शिवपुरी। कोरोना काल के बाबजूद भी यदि मन में सेवा का भाव हो तो फिर सेवा कार्य रोके नहीं रोके जा सकते कुछ इसी तरह का सेवा कार्य करने का संकल्प लिया है मध्यदेशीय अग्रवाल समाज के अध्यक्ष गौरव सिंघल द्वारा जिन्होंने कोरोना काल के समय में जहां जरूरतमंदों को भोजन और आवश्यम सामग्री पहुंचाई तो वहीं उनकी यह सेवा गतिविधि आज भी बनी हुई है। 

जहां उन्होंने अपनी धर्मपत्नि श्रीमती डॉली सिंघल व पुत्री के साथ मिलकर अपना जन्मदिन वृद्धाश्रम पहुंचकर मनाया और यहां जरूरी सामग्री के रूप में वृद्धजनों को तकिया की कमी महसूस हो रही थी जिस पर गौरव सिंघल द्वारा इस आवश्यक कार्य की पूर्ति तो की ही गई साथ ही सभी वृद्धजनों को भोजन के पैकेट वितरित कर उन्हें भोजन भी कराया। 

इसके साथ ही सेवा का यह क्रम प्रभुजियों के बीच भी हुआ जहां लालमाटी स्थित अपना घर आश्रम में मौजूद प्रभुजनों के लिए सर्दी से बचाव हेतु पैरों में ठण्ड लगने के कारण वह गर्म स्थान तलाशते थे ऐसे में इन सभी प्रभुजियों के लिए पैरों की चप्पलें भी मध्यदेशीय अग्रवाल समाज अध्यक्ष गौरव सिंघल द्वारा सपत्निक श्रीमती डॉली सिंघल के साथ दान की गई। 

जिस पर अपना घर आश्रम के गौरव जैन ने आभार जताया। इसके साथ ही शहर के विभिन्न स्थानों पर बैठने व राह में मिलने वाले गरीब, निर्धन, निराश्रितों को भी भोजन के पैकेट गौरव सिंघल के द्वारा प्रदाय किये गये और इसके साथ ही शहर के बस स्टैण्ड, रेल परिसर, रैन बसेरा, कैला मैया मंदिर प्रांगण, अस्पताल आदि स्थानों पर रात के समय भ्रमण किया गया और जरूरतमंद व सर्दी में ठण्ड से बेहाल हो रही वृद्धजनों व निर्धन, निराश्रितों को कंबल भी विततिर किए गए। इस दौरान इस सेवा कार्य में गौरव सिंघल की धर्मपत्नि श्रीमती डॉली सिंघल व पुत्री ने भी सहयोग प्रदान किया और सेवा कार्य में हाथ बंटाया।